डोमेन क्या है- Domain meaning in Hindi

नमस्कार दोस्तों यदि आप भी इंटरनेट से ब्लॉग या वेबसाइट के द्वारा पैसे कमाना चाहते हैं तो इसे पूरा करने के लिए आपके पास domain होना जरूरी है। डोमेन क्या है, इसके बारे में जानने के लिए लोग domain meaning in Hindi इत्यादि जैसे शब्दों को सर्च करते रहते हैं लेकिन आज हम इसी के बारे में आपसे बात करेंगे कि आखिर डोमेन क्या है और इसे कैसे प्रयोग किया जाता है तो बने रहिये इस पोस्ट के अंत तक और लेते रहिये पूरी जानकारी। दोस्तों जैसे कि दुनिया में रहने वाली हर इंसान का अपना अपना एक नाम होता है जिसके द्वारा हम उसे बुलाते या पुकारते हैं उसी तरह इंटरनेट की दुनिया में भी हर वेबसाइट का अपना अपना एक डोमेन नेम होता है जिसके द्वारा इंटरनेट पर सर्च करके हम उसके बारे में पूरी जानकारी ले सकते हैं।
उदाहरण के तौर पर:- यदि हम मान लेते हैं कि हमारे वेबसाइट का नाम www.cyberkida.com है अभी अभी इंटरनेट पर आप इस नाम को सर्च करेंगे तो यहां पर आपको मेरी ही वेबसाइट मिलेगी क्योंकि यहां पर हमने डोमेन को परचेज किया है लेकिन आपने इस डोमेन के अंत में देखा होगा कि यहां पर डॉट कॉम प्रयोग किया गया है इसका मतलब किया टॉप लेवल डोमेन है यदि हम डोमेन की धागों की बात करें तो यह 3 भाग में बटा होता है जो निम्न वत है-
डोमेन क्या है- what is domain

  1. टॉप लेवल डोमेन (Top level domains) यानि TLD 
  2. सेकेंड लेवल डोमेन (Second level domains) यानि SLD
  3. सब डोमेन (Subdomain)

टॉप लेवल डोमेन क्या है- what is top level domain

टॉप लेवल डोमेन ( TLD ) का उपयोग अधिकतर उन कंपनियों द्वारा किया जाता है जो पूरी दुनिया में अपना बिजनेस फैलाना चाहती है। जैसे कि गूगल ,फेसबुक, इंस्टाग्राम इत्यादि कंपनियां टॉप लेवल डोमेन ( TLD ) का ही उपयोग करती हैं जिससे कि इनके यूजर दुनिया के किसी कोने में रहकर इनके वेबसाइट का उपयोग कर सकें। 

उदाहरण के तौर पर-: यदि हम कहे तो टॉप लेवल डोमेन में.COM का उपयोग ज्यादा किया जाता है क्योंकि यदि .Com की जगह .in का प्रयोग किया जाए तो यह केवल भारत में ही रह जाएगा। अब आपको अगर और डिटेल में समझाएं तो जैसे कि आपका कोई दोस्त अमेरिका में है और वह आपकी website या blog पर विजिट करना यह देखना चाहता है तो इसके लिए वह इंटरनेट पर जाकर आपकी वेबसाइट का नाम सर्च करेगा। अब यदि आपकी वेबसाइट के अंत में .com लगा है तब तो उसे आपकी वेबसाइट मिल जाएगी और यदि .in का प्रयोग किया गया है तो जाहिर सी बात है कि वह आपकी वेबसाइट पर विजिट नहीं कर पाएगा इसीलिए हम आपको सलाह देंगे कि आप जब भी domain purchase करे तो top level domain ही खरीदे जिससे कि इंडिया के बाहर से भी आपकी website पर traffic आ सके और आपकी कमाई ज्यादा हो सके क्योंकि अमेरिका एवं कनाडा जैसी देशों से ट्रैफिक आने पर बहुत ही ज्यादा earning होती है क्योंकि इन देशों में दिखाए जाने वाले ads (प्रचार) काफी महंगे होते है।

सेकेंड लेवल डोमेन क्या है- what  is second level domain

आपने ऊपर देख लिया कि आखिर टॉप लेवल डोमेन क्या होता है एवं इसका क्या महत्व है। अब आपको बता दें की सेकंड लेवल डोमेन ( SLD ) क्या होता है। दरअसल सेकंड लेवल डोमेन मे आपकी वेबसाइट का नाम आता है।
उदाहरण के तौर पर:- यदि मेरी वेबसाइट का नाम है www.cyberkida. com तो यहां पर cyberkida मेरी वेबसाइट का सेकंड लेवल डोमेन है। यह हर किसी का अलग अलग होता है। एक तरह से देखा जाए तो यह वेबसाइट का डीएनए होता है मतलब की यह कभी भी दो वेबसाइट का एक जैसे नहीं हो सकता। यह सबका अपना अपना अलग होता है और इसी सेकंड लेवल डोमेन के द्वारा ही लोग आपकी वेबसाइट पर विजिट कर पाते हैं।

सब डोमेन क्या है - what is sub domain

अभी तक तो आपने यह जान लिया होगा कि आखिर टॉप लेवल 2 मिनट 1 सेकंड लेवल भूपेंद्र क्या होता है अब हम आपको बताएंगे कि आखिर सब डोमेन क्या होता है। sub domain यानी की ( www ) यह किसी भी वेबसाइट का sub domain होता है जो google की तरफ से फ्री में दिया जाता है। यह हर एक website में एक ही होता है। 

उदाहरण के तौर पर:- यदि आपको google पर कोई image सर्च करनी है तो आप गूगल पर जाकर www.best imgae.com सर्च करेंगे। चलिए यहाँ अगर आप image भी डालेंगे तो गूगल ओटोमेटिक www. लगा ही देता है और यदि आप इसे किसी दूसरे सर्च इंजन में सर्च करेंगे तो वहां पर www. लगाना ही पड़ेगा वर्ना आपको आपका रिजल्ट नही मिलेगा। कुल मिलाकर कहे तो sub domen आपको फ्री में दिया जाता है।

For Example:- हम Google को लेते हैं इसका मुख्‍य डोमेन है www.google.co.in लेकिन google ने जब Google Map लांच किया तो इसके लिये google.co.in के सब डोमेन ( Subdomain ) का इस्‍तेमाल किया गया आप केवल https://maps.google.co.in/maps पर जाकर गूगल मैप खोल सकते हैं इस प्रकार गूगल के कई साइट गूगल के सब डोमेन ( Subdomain ) पर चल रही हैं - 
  • images.google.com
  • mail.google.com
  • news.google.com 
  • video.google.com
  • groups.google.com
  • docs.google.com
  • translate.google.com
आप देखेंगे कि इसका डोमेन गूगल ही है लेकिन सब डोमेन ( Subdomain ) अलग है और उस पर साइट भी दूसरी खुलती है।

डोमेन ख़रीदते वक़्त ध्यान देने योग्य बाते


डोमेन खरीदते वक्त हमेशा सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि इंटरनेट पर बहुत सी ऐसी वेबसाइटें हैं जो सस्ते में domain देने का वादा करती हैं और जिन लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं है वह जाकर उनसे डोमेन खरीद लेते हैं। चलिए उस वक्त तो ठीक है, सस्ते में मिल गया! भाई काम चलने लगा लेकिन दिक्कत उस वक्त आ जाती है जब  उसे दोबारा रेनेवल कराना पड़ता है। अब दिक्कत आती है कि आपने लोकल वेबसाइट से domain तो खरीद लिया और वह वेबसाइट बंद हो गए तो इस कंडीशन में तरह तरह की परेशानियां आपके सामने आने लगेंगी और आप सस्ते डोमेन के चक्कर में बहुत महंगे में पड़ जाएंगे। इसीलिए कभी भी थर्ड पार्टी से डोमेन purchase करने का चक्कर में ना पड़ें। 
हम आपको सजेस्ट करेंगे कि godaddy, bigrock जैसे वेबसाइट से ही domain खरीदें क्योंकि यह वेबसाइट है कभी भी बंद नहीं होने वाली। ध्यान देने वाली बात तो यह है कि अपनी domain का नाम भी अपनी वेबसाइट से मिलता-जुलता ही रखें ।जैसे कि आपकी वेबसाइट की कैटेगरी टेक में है और आपने वेबसाइट का नाम रख लिया dainik khabar.com तो ऐसे में बहुत कम चांस है कि यूजर को आपकी वेबसाइट के बारे में ज्यादा कुछ समझ आए और यदि आपने अपनी वेबसाइट का नाम computer duniya.com या Tech duniyaa.com रख लिया तो एक झटके में देखते हैं यूजर को समझ आ जाएगा कि आपके वेबसाइट मैं उसे क्या मिलने वाला है इसीलिए डोमेन खरीदते वक्त यह खास ध्यान रखें।
डोमेन क्या है- Domain meaning in Hindi डोमेन क्या है- Domain meaning in Hindi Reviewed by Cyber Kida on Saturday, January 19, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.