What is SEO.. SEO क्या है और कैसे करते हैं?

आजकल बेरोजगारी दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जा रही है। कंपनियां खुलने का नाम नहीं ले रही और जो बची खुशी कंपनियां है वह भी आप आदमी की जगह मशीन एवं रोबोट से काम लेने लगी है ऐसे में इंसान के पास अब किसी दूसरी के पास जाकर काम मांगने एवं पैसे कमाने मैं काफी कठिनाई होने लगी है। अगर कोई व्यक्ति काम पर रखता भी है तो वह शुरूआती आपको 15 से ₹20000 तक ही देगा लेकिन हम जानते हैं कि इतनी महंगाई में इतने पैसों से कुछ नहीं होने वाला। अब आखिर बात आती है कि हम ज्यादा पैसे कैसे कमा सकते हैं तो इसके लिए कोई भी पढ़ा लिखा इंसान आपको यही कहेगा कि आप जाइए और इंटरनेट से पैसे कमाए। यह सुनते ही पैसे कमाने का जज्बा रखने वाला इंसान यह सब जानकारी लेने के लिए दो जगह ही जाता है एक youtube और दूसरा Google. हम जानते हैं कि भारत में अभी भी इंटरनेट की स्पीड इतनी ज्यादा नहीं है कि यूट्यूब हर जगह चल सके इस वजह से लोग लेख पढ़ने के लिए गूगल की तरफ ही ज्यादा आकर्षित होते हैं। ऐसे में जब वह गूगल पर अपना प्रश्न लिखते हैं तो गूगल उनके सामने ढेर सारे वेब साइट्स को उत्तर के साथ प्रस्तुत कर देता है अब यूज़र ऊपर से दिखने वाली केवल दो या तीन वेबसाइट पर ही click करता है एवं उसे पढ़ने के बाद वह निकल जाता है। हालांकि ऊपर दिखाई गई वेबसाइट जिसकी है उसे तो कमाई हो जाती है लेकिन जो नीचे रह जाते हैं उनकी कमाई कुछ नहीं होती। अब बात आती है कि आखिर उनकी कमाई क्यों नहीं होती तो यहां पर एक चीज सामने आती है और वह है SEO यानी कि " search engine optimization"

अब हम आपको बताते हैं कि आखिर सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या होता है। दरअसल जिस लेख में इसका इस्तेमाल काफी बेहतरी के साथ किया जाता है तो गूगल ऐसे लेख को सबसे पहले दिखाता है क्योंकि गूगल को ऐसा लगता है कि यह लेख लिखने वाला कोई बहुत ही समझदार बंदा है ऐसे में यदि मैं इसे पहले पेज पर दिखाओ तो यूजर को ज्यादा समझ आएगा। यदि आप भी blogger या youtuber या इंटरनेट पर काम करते हैं तो इस लेख को पढ़ते रहिए क्योंकि आज हम आपको बिल्कुल फ्रेंडली सब कुछ समझाने की कोशिश करेंगे।

SEO एक process है जिसका use कर के हम अपने website की Organic ranking increase कर सकते हैं search engines  में।
आसान शब्दो में कहें तो –
SEO वह सब तरीके है जिनका इस्तेमाल कर के हम अपने वेबसाइट को Search engines के top पर ला सकते है ताकी ज्यादा से ज्यादा लोग उसे देखे।
Website पर traffic जरूरी है क्योकि जहाँ भीड़ है वहाँ पैसा भी है इसीलिए हर ब्लॉगर अपने कंटेंट में एसईओ का प्रयोग करता है इसके लिए जरूरी होता है कि आप इसके बेसिक फंडामेंटल को समझे क्योंकि यदि ऊंचाई पर जाना है तो पहली सीढ़ी पर बिना कदम रखे हम उसके शिखर तक नहीं पहुंच सकते। इसीलिए आप भी एक झटके में नहीं सीख सकते इसके लिए आपको practice की जरूरत पड़ेगी। आप जैसे-जैसे प्रैक्टिस करते जाएंगे आपको SEO के बारे में जानकारी होती जाएगी। यदि कोई व्यक्ति आपके पास आकर यह कहे कि वह SEO का  मास्टर है एवं उसे पूरी तरह SEO आती है तो आप समझ जाइए कि वह इंसान या तो खुद पागल है या फिर आप को पागल बनाने की कोशिश कर रहा है। क्योंंकि SEO आज तक किसी को भी पूरी तरह समझ नहीं आया है क्योंकि यह ऐसी चीज है जो समय के साथ एवं जरूरत के हिसाब से बदलती रहती है इसके लिए जरूरी होता है कि आप हमेशा इसके बारे में जानकारी प्राप्त करते रहें एवं UPDATED रहे क्योंकि गूगल पर एल्गोरिथ्म हमेशा बदलते रहते हैं और SEO भी उन्हीं का एक हिस्सा है अब बात आती है कि आखिर SEO कितने प्रकार का होता है तो यहां पर हम आपको बता दें कि SEO दो प्रकार का होता है
  • ON PAGE SEO
  • OFF PAGE SEO

आन पेज एसईओ क्या है ( what is ON PAGE SEO )

  • हम आपको ज्यादा डिटेल में समझाने से बढ़िया इस तरीके से समझाएं गे कि आपको छोटे से शब्द में भी सब कुछ समझ में आ जाए अगर हम बात करें आन पेज SEO क्या है तो इसका सीधा सीधा संबंध आपके हैं वेबसाइट के डिजाइन व मॉडल से होता है। दर असल आन पेज SEO में आपके वेबसाइट की का डिजाइन, उस में प्रयोग किया गया कलर, दिए गए Navigation bar एवं Keywords और heading सहित तमाम फंक्शन को स्कैन किया जाता है। इसीलिए बेहतर होगा कि आप अपने वेबसाइट को बिल्कुल ही समय के साथ एवं अच्छे से बनाएं। वेबसाइट में प्रयोग किए गए किसी भी block को खाली ना छोड़े हैं। जिस चीज के लिए आपने उस block या category को बनाया है तो उसमें उसका link जरूर डालें। इससे दो फायदा होता है-
  • एक तो आपको ऐडसेंस का अप्रूवल जल्दी मिल जाएगा।
  • दूसरा यह होता है की ऐसे में आपकी वेबसाइट को पर ट्रैफिक आने की संभावना बढ़ जाएगी।
 लोग content quality के साथ साथ आपकी वेबसाइट के मॉडल को भी देखते हैं इसीलिए आपका वेबसाइट या blog  जितना attractive रहेगा उतने ही यूजर आपकी ब्लॉक पर आएंगे और उतनी ही ज्यादा आपको इनकम होगी। एक बात और इसमें यह ध्यान देने वाली है कि आप वेबसाइट की स्पीड पर भी जरूर ध्यान दें अब आप में से बहुत से लोग या नहीं जानते होंगे कि आखिर वेबसाइट स्पीड क्या होती है, तो चलिए हम भी आपको यह बता देते हैं।

वेबसाइट स्पीड क्या है ( what is website speed )

वेबसाइट स्पीड में सबसे ज्यादा मैटर है जिस चीज का होता है वह चीज है आपके द्वारा पसंद किया गया Theme. दोस्तों इंटरनेट पर लाखों-करोड़ों theme मौजूद है परंतु उनमें से कुछ ऐसे theme भी होते हैं जो वेबसाइट पर अप्लाई होने के बाद उसकी स्पीड को काफी हद तक कम कर देते हैं। जैसे कि कोई यूज़र आपके वेबसाइट पर आया और उसने ब्लॉग को पढ़ने के बाद जब बैक बटन को press किया तो आपका website वेटिंग लेने लगा या फिर यूं कहे तो 2 से 3 सेकंड बाद back हो रहा है तो ऐसे में बहुत ही कम चांस है कि आपका वेबसाइट रैंक करें। और दूसरी बात यह है कि आप जब कभी भी theme को अपनी वेबसाइट पर अप्लाई कर रहे हो तो उस पर इस बात का ध्यान जरूर दें कि वह theme responsive होनी चाहिए। अब बहुत से लोगों को यह भी पता नहीं होगा कि आखिर रेस्पॉन्सिव थीम क्या होता है, तो चलिए हम आपको यह भी बता देते हैं।


रेस्पॉन्सिव थीम क्या है ( what is responsive theme )

दर्शन पहली पहली बार ब्लॉक पर काम करते हैं तो टीम अप्लाई करने के बारे में ज्यादा नहीं सोचते कि उसके रंग एवं मॉडल को देखकर उसे अप्लाई कर देंगे कंप्यूटर लैपटॉप पर आपकी वेबसाइट बहुत अच्छी दिखेगी परंतु जब आपसे मोबाइल में खुलेंगे तो बिल्कुल भी अच्छी नहीं दिखेगी इसीलिए जब भी किसी भी टीम को अपनी वेबसाइट पर अपलोड करने जाए गूगल पर हमेशा रिस्पांसिबल थे जरूर सजके इसके लिए आप सर्च कर सकते हैं कि-

  • Responsive theme for blogger
  • Best responsive theme
  • Latest responsive theme



ऑफ पेज एसओ क्या है ( What is OFF PAGE SEO )

अभी तक ऊपर हमने कहा की On page SEO क्या होता है अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर Off page SEO क्या होता है। दरअसल ऑफ पेज एसईओ में सारा काम ब्लॉग के बाहर का होता है। चलिए अब आपको और भी डिटेल में समझाते हैं कि आखिर ऑफ पेज SEO क्या है। दोस्तों आपने प्रमोशन का नाम तो सुना ही होगा क्योंकि हम जानते हैं कि कोई भी बिजनेस हो उसका एक ही फंडा होता है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी बिजनेस की जानकारी देना। क्योंकि जब ज्यादा से ज्यादा लोग हमारे बिजनेस के बारे में जानेंगे तो उतना ही हमारे पास आएंगे और जितना ही लोग बिजनेस के सिलसिले में हमारे पास आएंगे उतना ही हमें प्रॉफिट होगा तो इस तरीके से हम कह सकते हैं कि यह एक Off page SEO है जो आप प्रमोशन के द्वारा करवा सकते हैं। यदि आपके पास प्रमोशन के लिए पैसे नहीं है तो ऐसे में आपको यह सवाल परेशान करेगा कि हम अपने वेबसाइट को Off page SEO के द्वारा रैंक कैसे कराएं तो इसके लिए आपको हम बिल्कुल ही साधारण सा तरीका बताने जा रहे हैं आप अपनी वेबसाइट का लिंक किसी भी दूसरी पॉपुलर वेबसाइट के comment section में जाकर अपनी वेबसाइट्स का लिंक छोड़ सकते हैं।

ऐसे में आपको उस वेबसाइट के द्वारा एक बैंक लिंक प्राप्त हो जाएगा और आपके वेबसाइट को जितना ही बैंक लिंक प्राप्त होगा आपकी वेबसाइट उतना ही rank करेगी ।बात आती है क्वेश्चन एंड आंसर जैसी वेबसाइट की।  यहां पर आप जाकर किसी के भी क्वेश्चन का आंसर दे सकते हैं और बदले में अपनी वेबसाइट का लिंक दे सकते हैं जिससे यूजर आपके वेबसाइट पर एक ना एक बार जरूर आएगा और दिन में करीब 100 लोग भी आ जाते हैं तो गूगल को ऐसा लगेगा कि आपकी वेबसाइट सच में कुछ कमाल कर रही है। तीसरी परिस्थिति में आप अपनी वेबसाइट का लिंक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे कि फेसबुक, व्हाट्सएप, टि्वटर, इंस्टाग्राम जैसी जगह पर भी दे सकते हैं जिससे rank करने के चांसेस बढ़ जाते हैं कि अब आपको वेबसाइट पर  चौथा और पांचवां सबसे मोस्ट और popular तरीका है guest Post. इस तरीके को अप्लाई करने के लिए आपको अपने न्यूज से रिलेटेड किसी भी खबर को सर्च करना होगा और उस खबर के नीचे जो कमेंट सेक्शन दिया रहता है वहां पर ले न्यूज़ का लिंक देना होगा इसे गेस्ट पोस्ट करते हैं जो बहुत ही कारगर तरीका है।

 Blog के लिए SEO क्यों जरुरी है?

I hope, आप SEO के बारे में ठीक से समझ गए होंगे. अब main मुद्दा यह हे की blog के लिए SEO करना क्यों जरुरी है. मैंने आपको ऊपर के पॉइंट में बताने की कोशिश की थी. खेर! फिर भी, आप तो जानते होंगे. Internet पर कितना competition हे. अगर आप कोई पोस्ट पब्लिश करते हो. तो इंटरनेट पर  पहले से ही same टॉपिक पर बहोत सारे वेब पेजेज होते हे.
अगर हमे उन सबको पीछे छोड़ना हो. मतलब सर्च रिजल्ट में no.1 की जगह चाहिए. तो SEO को follow करना पड़ेगा. अगर किसी भी blog या वेबसाइट को रैंक करना हो. तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन को फॉलो करना पड़ेगा. SEO सुनने में सिर्फ तीन वर्ड है. पर इसे पुरा समझने में बहोत समय लगेगा.
मेरे कहने का मतलब हे. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन में बहोत सारे टर्म्स एंड तकनीक हे. जिसे एक दिन में समझना नामुनकिन. पर डरने की कोई बात नहीं. आगे जाके सब धीरे-धीरे समझ आएगा. शुरवात में सबको कठिन ही लगता है.
What is SEO.. SEO क्या है और कैसे करते हैं? What is SEO.. SEO क्या है और कैसे करते हैं? Reviewed by Cyber Kida on Sunday, January 13, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.