MPN new rule By TRAI | sim card porting in hindi

हेलो दोस्तों जैसा कि आपको पता ही होगा कि MPN new rule By TRAI ( Telecom regulatory authority of india )  इस समय अपने पूरे फॉर्म में है। जिस वजह से वह DTH के प्लान चेंज कर रही है, mobile number portability के भी प्लान चेंज कर रही है और साथ ही साथ कंपनियों के network को लेकर भी कड़ी चेतावनी जारी कर रही है, तो घुमा फिरा कर कहने का मतलब है की TRAI अपने कर्मचारियों को जो पैसा देती थी अब उस पैसे का काम भी करवा रही है। देर ना करते हुए चलिए समझते हैं कि मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी यानी कि MNP में क्या-क्या नई नई चीजें Change हुई है।
MPN new rule By TRAI

जानिए mobile number portability  का मतलब


तो दोस्तों mobile number portability  का मतलब है कि किसी भी एक नंबर को दूसरे कंपनी के नंबर में switch या Port करना। इसके बाद आपका जो पुराना नंबर था वह नम्बर में same रहेगा बस बदलेगा तो कंपनी के द्वारा दिया गया प्लान। जैसे कि यदि पहले आप जियो का सिम चलाते थे और आपके यहां आइडिया का network बेहतर है और आप ने जो जियो का sim यूज किया है वह आपका personal number है तो इस स्थिति में आप उसे पोर्ट करा कर आइडिया की service का लाभ ले सकते हैं। आपका नंबर तो वही रहेगा लेकिन आपको सर्विस एवं नेटवर्क की स्पीड idea की मिलने लगेगी।

TRAI ने लागू किया नया नियम


TRAI ने इसी को लेकर 13 दिसंबर 2018 को एक नया नियम publicly post किया है। हम आपको बता दें कि TRAI जो भी नियम पोस्ट करता है वह 6 महीनों के भीतर सभी कंपनियों को मानना पड़ता है और इसे Activate करना पड़ता है। यदि हम 13 दिसंबर 2018 से 6 महीने को ले तो 11 जून 2019 तक सारे mobile operater को इस नियम को लागू करना है। 6 महीने का टाइम कंपनियों को इसलिए दिया गया है ताकि वह अपने software एवं बाकी technical चीजों को सही कर सकें।

यह है सबसे महत्वपूर्ण बातें


 mobile number portability  में तीन लोगों का बहुत महत्वपूर्ण रोल होता है।

  •  पहला आपका करंट ऑपरेटर जिसमें आप हो। इसे Doner operater बोला जाता है। जब भी आपको मोबाइल नंबर port कराना होता है तो आपको अपने उसी नंबर से एक मैसेज भेजना पड़ता है और आपको capital में लिखना पड़ता है PORT < space > 9976****** ( आपका मोबाइल नंबर ) और फिर उसे 1900 पर send कर देना है। इसके बाद आपको एक UPC कोड मिलता है जिसे बोला जाता है Unik porting code जो आज की तारीख में 15 दिन के लिए वैलिड रहता है लेकिन 11 जून 2019 के बाद नए नियम के मुताबिक यह केवल 4 दिन के लिए ही वैलिड रहेगा।



  • यह UPC Code आपको आपके Doner operater से मिलेगा। यानी कि आप इस समय जिस कंपनी का sim यूज कर रही है वह कंपनी आपको यह UPC code देगी। इसके बाद आपको यह कोड उस कंपनी ऑपरेटर के पास ले जाना है जिसमें आप अपना सिम port कराना चाहते हैं। उस कंपनी के द्वारा आपको एक form दिया जाएगा जिसमें आपको जो कुछ भी पूछा जाएगा उसे सही सही भर देना है।


चलिए समझते है पूरा process


जैसे ही आप porting code generate करते हैं तो TRAI सबसे पहले आप का यह 3 चीजें मैच या वेरीफाई करता है-

First task


सबसे पहली बात तो यह कि किसी भी Sim को आपने पहले porting कराई है तो उस सिम को आप 90 दिन के भीतर दोबारा किसी भी नेटवर्क में port नहीं करा सकते। यह एक locking periouds होता है जो पहले भी 90 दिन था, आज भी 90 दिन है और आने वाले समय में भी 90 दिन ही रहेगा।

Second task


दूसरी बात तो यह है कि जो आपका porting code है उसका क्या पहले से process चल रहा है? क्या वह पहले से ही use हो चुका है? उसके बाद यह check किया जाता है कि क्या आप का porting code expire हो चुका है या अभी भी valid है। अगर वह valid होगा तो वापस से आपको मिल जाएगा। यह सारी चीजें verify करने के बाद आपका जो मोबाइल ऑपरेटर है वह उसे भेजता है mobile number portability service provider के पास जो कि एक mediater की तरह काम करता है।

Third task


तीसरे task में mediater वापस से सारी चीजे verify करता है कि आपने जो porting code भेजा है या आपने जो request किया है वह आपरेटर को वह मैच कर रहा है या नहीं। यानी कि वह आप ही के नंबर पर approve होना चाहिए या ऐ
सा नहीं की आपके पुराने operator ने गलत form fill up कर दिया तो यह सारी चीजें मैच किया जाता है। इसके बाद वह approval भेजता है main operator के पास यानी कि आप जिस कंपनी में अपना सिम port कराना चाहते हैं।

2 दिन में हो जाएगा पूरा प्रोसेस


 इस प्रोसेस को पूरा करने के लिए 7 दिन का टाइम लगता था लेकिन अब यह प्रोसेस केवल 2 दिन के अंदर ही पूरा हो जाएगा। आप जैसे ही port के लिए apply करेंगे 36 घंटे के भीतर ही आपके सारे document एवं request को verify कर दिया जाएगा और two working days के अंदर आपका नंबर port हो जाएगा। यहां पर working days का मतलब है कि इसमें ना तो sunday include होगा और ना ही इसमें कोई public holiday include किया जाएगा।

इन प्रदेशो में नही लागू होगा नियम


कुछ प्रदेश ऐसे भी है जिनमें यह नियम लागू नहीं होगा। उन प्रदेश के नाम असम, जम्मू कश्मीर और नार्थ ईस्ट है। इनमें यह नियम लागू नहीं होगा। यहां पर पुरानी चीजें चलने वाली है। 7 दिन में पूरी process complete होगी और 15 दिन की validity मिलेगी। बाकी state में यह नियम लागू कर दिया गया है और 2 दिन में आपका सिम पोर्ट हो जाएगा।

नही जुड़ेगा कोई भी बैलेंस


अब यहां पर एक दिक्कत और यह निकल कर आ रही थी कि यदि मेरे सिम में अभी ढेर सारे ballance है और मैं उसे port कराना चाहता हूं तो क्या वह बैलेंस मेरे दूसरे सिम में add हो जाएंगे तो इस पर TRAI बहुत ढेर सारी discussion किए और last में यह decision निकाला कि आपको अपना बैलेंस consume करने के बाद ही port कराना है वरना port कराने के बाद आपका जितना भी Ballance है वह सब खत्म हो जाएगा और आपको कोई भी बैलेंस नहीं मिलेगा।

कंपनियों पर लगेगा 10 हजार का जुर्माना


यहां पर एक नियम और भी निकल कर सामने आया है कि आप का doner operator यानी कि आप जिस कंपनी का sim चला रहे हैं वह आप का application reject नहीं कर सकता और यदि करता भी है तो उसे एक valid reason देना पड़ेगा। कई बार ऐसा होता था कि कंपनियां अपने ग्राहक बचाने के लिए उनका सिम पोर्ट नहीं करती थी लेकिन अब ऐसा करने पर कंपनियों के ऊपर 10000 का fine भी लगेगा तो इससे यह बात साफ हो चुकी हैं कि आप जब चाहे तब आप अपने सिम को port करा सकते हैं लेकिन वह sim पहले से 90 दिन पुराना port हुआ होना चाहिए।

फिलहाल नही लागू है यह नियम


अब जो है घुमा फिरा के नए नई चीजें आ रही है पहले TRAI कर्मचारियों को बैठने का पैसा दे रहा था लेकिन अब वह उन से काम करवा कर उन्हें Sallery दे रहा है। final word है कि यह नियम 13 दिसंबर को publicaly post किया गया है तो 11 जून 2019 को इसे पूरी तरह forcaly लागू कर दिया जाएगा लेकिन अभी की बात करें तो यह नियम अभी लागू नहीं किया गया है लेकिन नियम के लागू होते ही आपका सिम 2 दिन के अंदर ही port हो जाएगा।


Final word...


यह रही कुछ आसान सी जानकारी एवं बहुत ही काम की जानकारी जिसे हमने आपको बिल्कुल ही अच्छी तरीके से समझाया है लेकिन अभी भी आपके मन में कोई doubt है या सिम porting को लेकर कोई सवाल है तो नीचे हमें कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें हम उसका रिप्लाई जरूर करेंगे, क्योंकि आपका मदद करना अपना सौभाग्य समझते हैं। ऐसे ही प्यार बनाए रखिए!  धन्यवाद
MPN new rule By TRAI | sim card porting in hindi MPN new rule By TRAI | sim card porting in hindi Reviewed by Cyber Kida on Saturday, February 09, 2019 Rating: 5

2 comments:

Powered by Blogger.